कानपुर में गंगा नहाने गए 7 लोग डूबे, दो सगे भाइयों समेत 4 की मौत; 3 को गोताखोरों ने बचाया
कानपुर में गंगा नहाने गए 7 लोग डूबे, दो सगे भाइयों समेत 4 की मौत; 3 को गोताखोरों ने बचाया
कानपुर में कैंट क्षेत्र के पुराना गंगा पुल के नीचे शुक्रवार दोपहर नहाने गए दो सगे भाइयों समेत सात किशोर गंगा में डूब गए। इनमें दो भाइयों समेत चार की मौत हो गई, जबकि तीन किशोरों को गोताखोरों ने बचा लिया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद गोताखोरों ने चारों के शव को बाहर निकाला।

कानपुर ब्यूरो. कानपुर में  कैंट क्षेत्र के पुराना गंगा पुल के नीचे शुक्रवार दोपहर नहाने गए दो सगे भाइयों समेत सात किशोर गंगा में डूब गए। इनमें दो भाइयों समेत चार की मौत हो गई, जबकि तीन किशोरों को गोताखोरों ने बचा लिया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद गोताखोरों ने चारों के शव को बाहर निकाला। 

इधर चार किशोरों के डूबने की खबर सुनकर मौके पर पहुंचे एसएचओ कैंट ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मिली जानकारी के अनुसार चकेरी के श्यामनगर न्योरा निवासी मोहम्मद अकील के बेटे आकिब (16) और अयाज (14) दोपहर जुमे की नमाज पढ़ने के लिए मोहल्ले के रहने वाले अर्सलान (15), रेहान (15), मोबिद, हम्जा व जैद के साथ घर से निकले थे। इस बीच अचानक उनका प्लान बदल गया।

इसके बाद सातों लोग ई-रिक्शा में बैठकर गंगा नहाने के लिए पुराना गंगा पुल के पास पहुंचे। वहां गंगा की बीच धारा में नहाने लगे। तभी अचानक आकिब, अयाज और अर्सलान का  पैर फिसल गया और तीनों पुल की कोठी में डूबने लगे। तीनों को डूबता देख चारों जब उन्हें बचाने पहुंचे, तो वह भी डूबने लगे। 

किशोरों की आवाज सुनकर वहां मौजूद स्थानीय गोताखोर अकिल और सकील  उनको बचाने के लिए गंगा में छलांग लगा दिए। इस दौरान गोताखोरों ने मोबिद,  हम्जा  और जैद को सकुशल बाहर निकाल लिया। लेकिन आकिब, अयाज, अर्सलान व रेहान को नहीं बचा सके।

उन्नाव के सभी अधिकारी मौके पर पहुंचे

सात किशोरों के डूबने की खबर सुनकर सिटी मजिस्ट्रेट उन्नाव विजेता, एएसपी शशि शेखर सिंह, नायब तहसीलदार मंजुला सिंह, इंस्पेक्टर गंगाघाट राकेश कुमार गुप्ता व इंस्पेक्टर कैंट अर्चना सिंह फोर्स संग मौके पर पहुंचे। जहां छानबीन में पता चला कि घटना स्थल कैंट थाना क्षेत्र का है। इसके बाद इंस्पेक्टर कैंट ने चारों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

डूबते ही दो साथी हुए फरार

चार साथियों के डूबते ही मोबिद और हम्जा मौके से फरार हो गए, जबकि जैद वहीं पर रूका रहा। पुलिस फोर्स जब मौकेपर पहुंची, तो जैद ने उन्हें पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी।

 

What's your reaction?

Comments

https://upnewsnetwork.in/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!

Facebook Conversations

Disqus Conversations