उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इसी कड़ी में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी पर निशाना साधा है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इसी कड़ी में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी पर निशाना साधा है। शुक्रवार को राजभर ने ट्वीट में लिखा, 'भाजपा डूबती हुई नैया है, जिसको इनके रथ पर सवार होना है हो जाए पर हम सवार नहीं होंगे। जब चुनाव नजदीक आता है तब इनको पिछड़ों की याद आती है। जब मुख्यमंत्री बनाना होता है तो बाहर से लाकर बना देते है। हम जिन मुद्दों को लेकर समझौता किए थे, साढ़े चार साल बीत गया एक भी काम पूरा नहीं हुआ।

एक टीवी चैनल से बात करते हुए राजभर ने कहा कि बीजेपी ने पिछड़ों के साथ धोखा किया है। केशव प्रसाद मौर्या को सीएम बनाने को कहा था, लेकिन नहीं बनाया। इनको सिर्फ चुनाव के समय ही पिछड़ों की याद आती है और यूपी से लेकर दिल्ली तक ड्रामा चल रहा है। इसके अलावा राजभर ने अपने एक ट्वीट में बीजेपी को डूबता हुआ जहाज बताया और कहा कि वो पार्टी से गठबंधन नहीं करेंगे।

ट्वीट कर कहा- किस मुहं से पिछड़ों में वोट मांगने जाएगी भाजपा 

ओमप्रकाश राजभर ने अपने ट्वीट में कहा कि उत्‍तर प्रदेश में शिक्षक भर्ती में पिछड़ों का हक लूटा, पिछड़ों को हिस्सेदारी न देने वाली भाजपा किस मुंह से पिछड़ों के बीच में वोट मांगने आएगी। इनको सिर्फ वोट के लिए पिछड़ा वर्ग याद आता है। हमने भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाया है जो भी उत्‍तर प्रदेश में भाजपा को हराना चाहते हैं, हम उनसे गठबंधन करने को तैयार है।

BJP को यूपी की सत्ता से हटाना प्राथमिकता- राजभर 

भाजपा की पूर्व सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री राजभर ने बलिया जिले के रसड़ा कस्बे में अपने निवास पर मिडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा को उत्तर प्रदेश की सत्ता से हटाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उनका ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ पंचायत अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव में केवल उन्हीं सीटों पर चुनाव लड़ेगा, जिस पर उसके उम्मीदवार जीत की स्थिति में होंगे। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की पहल पर प्रदेश के कई क्षेत्रीय दलों ने साथ मिलकर ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ बनाया था।

सपा, बसपा और कांग्रेस से गठबंधन

राजभर ने कहा कि अन्य सीटों पर मोर्चा भाजपा को शिकस्त देने के लिए सपा, बसपा और कांग्रेस के मजबूत उम्मीदवारों का समर्थन करेगा। क्या यह रुख आगामी विधानसभा चुनाव में भी रहेगा? इस पर राजभर ने कहा कि मोर्चा सरकार बनाने के लिए विधानसभा चुनाव लड़ेगा। विधानसभा चुनाव के लिए सपा, बसपा व कांग्रेस से गठबंधन का विकल्प खुला हुआ है।

दिल्ली में बैठकों के बीच राजभर हमलावर

ओम प्रकाश राजभर 2017 में बीजेपी के साथ थे और योगी सरकार के गठन के बाद उन्हें पिछड़ा वर्ग विभाग का मंत्री बनाया गया था। राजभर ने बाद में बीजेपी से रिश्ता तोड़ लिया था और फिर योगी सरकार के खिलाफ लगातार बयान देते दिखे थे। इस वक्त राजभर का बयान ऐसी स्थितियों में आया है कि सीएम योगी दिल्ली में हैं। उनके दिल्ली पहुंचने के दिन ही बीजेपी के बड़े नेताओं ने पिछड़ी जाति की नेता अनुप्रिया पटेल और निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद से भेंट की है।