जेल सूत्रों का कहना है कि रात में सुशील को जेल में नींद नहीं आई। वह काफी देर तक करवटें बदलता रहा और किसी बात को लेकर मंथन करता हुआ नजर आया। हालांकि सुबह से जेल की दिनचर्या में सुशील जुट गया।

नई दिल्ली : पहलवान सागर धनकड़ की हत्या के आरोप में तिहाड़ की मंडोली जेल में बंद ओलंपियन सुशील कुमार को लेकर आए दिन नई नई बातें सामने आती रहती हैं। कभी वह रह रहकर रोने लगता है तो कभी पुलिस अधिकारियों पर आरोप लगाता है कि उन्होंने उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी। अब जेल के अंदर से एक और बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि जेल में दिए जाने वाले खाने से सुशील कुमार का पेट नहीं भर रहा है और इसलिए उसने अतिरिक्त भोजन की मांग की है। 

पहलवान सुशील कुमार जेल की आठ रोटियों, दो कप चाय और चार बिस्कुट को अपने लिए कम बता रहे हैं। सुशील का कहना है कि उनका पेट अन्य कैदियों को मिलने वाली खुराक से नहीं भर पाता है। उन्हें कुछ अधिक खाना चाहिए होता है। साथ ही ऐसा भोजन चाहिए जिसमें प्रोटिन अधिक हो। 

चार मई की रात सागर धनखड़ की हत्या 

बताया जाता है कि जरूरत पड़ी तो वह अपनी इस समस्या के समाधान के लिए अदालत से भी आग्रह कर सकते हैं। मालूम हो कि चार मई की रात सागर धनखड़ की हत्या की घटना के बाद से सुशील एक से दूसरी जगह भाग रहा था। इस दौरान उसे अपने परिवार वालों से बात करने का मौका नहीं मिला था। मंडोली जेल पहुंचने के बाद वह बहुत डरा हुआ था। इसी दौरान उसे उसके परिजनों से बात करने की अनुमति दी गई थी। परिजनों से बात करते ही वह फफक कर रो पड़ा था।

बुधवार देर रात जेल पहुंचा सुशील इतना डरा हुआ था कि उस दिन जेल प्रशासन की तरफ से दिया गया खाना भी उसने नहीं खाया। जेल सूत्रों का कहना है कि रात में सुशील को जेल में नींद नहीं आई। वह काफी देर तक करवटें बदलता रहा और किसी बात को लेकर मंथन करता हुआ नजर आया। हालांकि सुबह से जेल की दिनचर्या में सुशील जुट गया। जेल में कुछ देर के लिए उसने व्यायाम भी किया। 

सुशील कुमार की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई 

अधिकारियों का कहना है कि पहलवान सुशील कुमार की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जेल प्रशासन ने बताया कि जेल में लाए जाने से पहले पुलिस ने सुशील का कोविड टेस्ट कराया था। इसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जेल में आने के बाद सुशील का कोविड टेस्ट नहीं कराया गया है। जरूरत महसूस होने पर जेल में भी कोविड टेस्ट कराया जाएगा।

आपको बता दें कि दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 4 मई की रात दिल्ली के मॉडल टॉउन थाने के इलाके में पहलवान सुशील और उसके साथियों ने एक फ्लैट से सागर और उसके दोस्तों का अपहरण किया। फिर छत्रसाल स्टेडियम में ले जाकर उनकी बेरहमी से पिटाई की। इसमें सागर बुरी तरह घायल हो गया था। इलाज के दौरान सागर की मौत हो गई थी। 

पुलिस के हाथ लगा सीसीटीवी फुटेज

वारदात के बाद पुलिस को स्टेडियम का एक सीसीटीवी फुटेज भी हाथ लगा है। सीसीटीवी फुटेज में सुशील 20-25 पहलवानों और असौदा गिरोह के बदमाशों के साथ सागर धनखड़ और दो अन्य को पीटता दिखा है। सभी लोग सागर को लात-घूंसों, डंडों, बैट व हॉकी से मारते दिख रहे हैं। फुटेज में सुशील सागर व दो अन्य पीड़ितों पर हॉकी चलाता भी दिखा है। सभी पहलवान और बदमाश स्टेडियम के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए थे।

 

 

YOUR REACTION?

Facebook Conversations



Disqus Conversations